बुधवार, 3 नवंबर 2010

ब्लॉगर की अर्जी-कुबेर की मर्जी------------ललित शर्मा

गत वर्ष धनतेरस पर हमने नुक्कड़ पर यह अर्जी लगाई थी।कुबेर जी नहीं मानी तो एक बार फ़िर निवेदन जारी किया गया है, हो सकता है इस वर्ष हमारी अर्जी मान ली जाए।
 
जय  कुबेर  महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
आज धन तेरस है तुझे पूजे है दुनिया सारी

धन के देवता हो कुछ ऐसा कमाल दिखाओ
सारे  बेईमानों   को आज कंगाल  कर जाओ
गरीबों को लूटके  भरी जिनकी तिजोरी सारी
 
जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
आज  धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी

धन   धनाधन   धन  कुछ  धन इधर  आने दो
सूखा  खेत  पड़ा   है   कुछ इसे  भी  सरसाने दो
जनता  मर  रही  देखो  नित  मंहगाई की मारी
 
जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
आज धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी

तुम  देवता सबके हो थोड़ा हक हमारा भी बनता
कुछ स्वर्ण मुद्राएं भेजो हममें भी आये चेतनता
धनतेरस पर हम यह निवेदन करते है जारी

जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
आज  धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी

31 टिप्‍पणियां:

  1. अर्जी लगती रहे तो देर-सबेर सुनवाई हो ही जाती है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपका आवेदन पत्र सम्बंधित अधिकारी को पुट - अप कर दिया गया है , भविष्य में उन्ही से पत्राचार करें .धन्यवाद !

    धन तेरस की असीम शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  3. कुबेर महाराज का दफ्तर कहाँ है ? मुझे भी अर्जी लगानी है.

    उत्तर देंहटाएं
  4. bhai jaan namaskar,
    kaafi dino ke baad aapka blog dekha ,socha is dhanteras ke moke par mai kuun khaali haath jaun,
    aapko Dhanteras ki haardik subh kaamnaye..........

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह भईया,
    "इस गीतात्मक अर्जी पर सुनवाई हो जाए,
    इस मुल्क में हर रात दीपावली हो जाए." आमीन.
    प्रणाम और धनतेरस की हार्दिक बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  6. अर्जी पर कुछ भार रखा क्या ? नहीं तो कैसे लगेगी ?

    दीपावली की शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  7. जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
    आज धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी

    प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं
  8. बेवजन अर्जिर्यों पर भारतदेश में तो कार्रवाई होती नहीं है।

    उत्तर देंहटाएं
  9. इस अर्जी में एक दस्तखत हमारे भी करा लीजिए :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामाएं ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. अर्जी तो वाजिब है लेकिन सुनवाई होती भी है ????
    आपको सपरिवार प्रकाश पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ !!
    उल्फ़त के दीप

    उत्तर देंहटाएं
  12. शानदार मज्रदार रचना के लिए बधाई. इसी तरह उत्तम लेखन करते रहो. दीपावली की शुभकामनाएँ .

    उत्तर देंहटाएं
  13. धन के देवता हो कुछ ऐसा कमाल दिखाओ
    सारे बेईमानों को आज कंगाल कर जाओ
    गरीबों को लूटके भरी जिनकी तिजोरी सारी
    गोदाम मे सड़े अनाज, रहे भूखी जनता बिचारी
    कर्णधारों का क्या कहना, उनकी मति तो गई है मारी
    जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
    आज धन तेरस है बरसा कर दे धन की तुझे पूजे दुनिया सारी
    जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
    ………क्या प्रार्थना है धन देवता कुबेर के लिये। नरक चतुर्दशी के घलो गाड़ा गाड़ा बधाई, तोर तो फेर कोनो जवाब नई ये तय आस हमर हीतू पिरूतू जबरदस्त रचना हवे तोर, वाह वाह ललित भाई…………………जय जोहार्……

    उत्तर देंहटाएं

  14. बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

    आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

    आपको और आपके परिवार में सभी को दीपावली की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएं ! !

    आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

    उत्तर देंहटाएं
  15. बेहतरीन ललित भाई!!



    सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    -समीर लाल 'समीर'

    उत्तर देंहटाएं
  16. llit ji behtrin rchnaa or divali donon ki mubarkbad kota aagmn pr aapki prtiksha he . akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  17. सधन के देवता हो कुछ ऐसा कमाल दिखाओ
    सारे बेईमानों को आज कंगाल कर जाओ
    गरीबों को लूटके भरी जिनकी तिजोरी सारी
    सच ही कहा है आपने , कैसे कैसों को दिया है , ऐसे-वैसों को दिया है ।

    उत्तर देंहटाएं
  18. दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं.

    रामराम

    उत्तर देंहटाएं
  19. कुबेर महाराज को तो अमीरों ने कैद कर रखा है उन तक अर्जी कैसे पहुँचेगा? आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  20. पूरे परिवार को मेरी ओर से बहुत बहुत शुभकामनायें इस पावन पर्व की !

    धन्यवाद !

    राम त्यागी

    उत्तर देंहटाएं
  21. आपको;आपके मित्रों व समस्त परिवारीजनों को दीवाली की शुभ कामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  22. “नन्हें दीपों की माला से स्वर्ण रश्मियों का विस्तार -
    बिना भेद के स्वर्ण रश्मियां आया बांटन ये त्यौहार !
    निश्छल निर्मल पावन मन ,में भाव जगाती दीपशिखाएं ,
    बिना भेद अरु राग-द्वेष के सबके मन करती उजियार !!
    हैप्पी दीवाली-सुकुमार गीतकार राकेश खण्डेलवाल

    उत्तर देंहटाएं
  23. 'असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मा अमृतं गमय ' यानी कि असत्य की ओर नहीं सत्‍य की ओर, अंधकार नहीं प्रकाश की ओर, मृत्यु नहीं अमृतत्व की ओर बढ़ो ।

    दीप-पर्व की आपको ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं ! आपका - अशोक बजाज रायपुर

    उत्तर देंहटाएं
  24. कुबेर बाबा के पेट मे सब भरा है भाई

    उत्तर देंहटाएं
  25. अर्जी पर वजन नहीं रखा था इस लिये सुनवाई नहीं हो रही है | दीपावली की शुभकामनाएं |

    उत्तर देंहटाएं