गुरुवार, 21 अक्तूबर 2010

ब्लॉगर मित्रों से एक अपील-----ललित शर्मा

17 सितम्बर को मेरी वेब साईट ललित कला डॉट इन का लोकार्पण ३६ गढ़ के यशस्वी मुख्य मंत्री रमन सिंग जी ने किया. ललित कलाओं पर वेब साईट बनाने की मेरी तमन्ना थी. जो एक दिन पूरी हुयी. जिसकी मुझे बहुत ही ख़ुशी है. लेकिन इस वेब साईट पर अब काम बहुत है. जिसे पूरा करना है. मेरा उद्देश्य है कि हमारे देश में ललित कला के क्षेत्र में काम कर रहे उन साथियों को दुनिया के सामने लाना, जिन्होंने इस क्षेत्र में उत्कृष्ट काम किया है. लेकिन किसी कारण वश उनका काम दुनिया के सामने नहीं आ सका. उसे एक मंच नहीं मिला जिससे वे अपनी कला का प्रदर्शन कर सकें. इनके विषय में भारत भर से जानकारी एकत्रित करना एक दुष्कर कार्य है. जिसे मुझे करना है।
मैं जब से ब्लॉग जगत में आया हूँ, तब से ही सभी ब्लोगर्स का मुझे भरपूर सहयोग मिला है. अब आपके सहयोग की आवश्यकता भारत के कलाकारों और शिल्पकारों को है. उन्हें हैं जो अभाव में जी रहे हैं. ऐसे कलाकार और शिल्पकार जिनकी कला के विषय में हम दुनिया को बताना चाहें, जिससे उनकी क्रृति को कोई खरीद कर उन्हें लाभान्वित करे. हमें जब ऐसा लगे कि इनके उम्दा काम के विषय में दुनिया को पता चलना चाहिए तो उसके विषय में  सभी जानकारियाँ उनकी कृतियों की फोटो सहित एक लेख के रूप में मुझे प्रेषित कर दे. जिससे उनकी समस्त जानकारी www.lalitkala.in पर डाली जा सकें. आपके द्वारा दी गई जानकारी ललित कला कोष में वृद्धि करेगी जिससे कलाकारों के साथ साथ आम लोगो को भी फायदा होगा. उन्हें सभी प्रकार की कला कृतियों के विषय में जानकारी एक ही स्थान पर प्राप्त हो जाएगी.
ब्लॉगर बंधुओं एवं भगिनियों से निवेदन है की यदि आपकी रुचि कलाकृति निर्माण में हो या आप ललित कलाओं से संबंधित कार्य करते हों या आपके आस-पड़ोस, गाँव-शहर में करता हो तो समस्त जानकारी कलाकृतियों के चित्र सहित मुझे (shilpkarr@gmail.com) ई मेल करें। उसे ललित कला वेब साईट में स्थान दिया जाएगा।आप यहाँ से वेब साईट का अवलोकन करें।

36 टिप्‍पणियां:

  1. इस विषय मे आपसे जल्दी ही सम्पर्क करुंगा

    उत्तर देंहटाएं
  2. सार्थक पहल। मुझे कुछ मिला तो अवश्य बताऊँगा।

    उत्तर देंहटाएं
  3. जैसे ही कोई शिल्पकार मिलता है उसका पूरा विवरण आपको भेज देंगे |

    उत्तर देंहटाएं
  4. ... lage raho ... chalte chalo ... badhate chalo ... jay jay chhattisgarh !!!

    उत्तर देंहटाएं
  5. अच्छी सार्थक पहल ...
    साधुवाद ..!

    उत्तर देंहटाएं
  6. अच्छा प्रयास है । शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. शुभकामनाएं और हम ललित कलाओं के लिए न सही, पर ललित भाई के लिए काम अवश्‍य करते हैं और करते रहना चाहते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस काम में सभी को खुले मन से सहयोग देना चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  9. सृजनात्मक ..........

    हमारी शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  10. साधुवाद ! आपका प्रयास सराहनीय है !

    उत्तर देंहटाएं
  11. प्रणाम, निश्चित रूप से आपका प्रयास सराहनीय है, हम आपको यह विश्वास दिलाते हैं कि हम आपके सहयोग हेतु सदा तत्पर रहेंगे............!!
    सार्थक पहल हेतु सादर बधाई एवं आभार.......

    उत्तर देंहटाएं
  12. इस कार्य में आपका सहयोग करने में हमें अपार खुशी होगी
    ऐसी जानकारी मिलते ही आपसे जरूर सम्पर्क करेंगें

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपका प्रयास सराहनीय है

    उत्तर देंहटाएं
  14. सराहनीय प्रयास, अपील नहिं आदेश दिजिये, हम भी भरसक योगदान देंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  15. प्रणाम, निश्चित रूप से आपका प्रयास सराहनीय है, हम आपको यह विश्वास दिलाते हैं कि हम आपके सहयोग हेतु सदा तत्पर रहेंगे............!!
    सार्थक पहल हेतु सादर बधाई एवं आभार.......

    विज्ञान गतिविधीयाँ नई पोस्ट मैजिक नहीं ट्रिक है ये
    क्यों और कैसे विज्ञान मे नई पोस्ट

    उत्तर देंहटाएं
  16. हाल में मुझे एक छोटी सी दुकान में एक व्‍यक्ति मिला .. जो संगमर्मर पर मूर्तियां उकेरता है .. काले मजबूत पत्‍थर में उसके पिताजी के द्वारा उकेरी गयी एक मूर्ति ने तो मुझे आश्‍चर्यचकित कर दिया .. मुझे उसकी कारीगिरी अच्‍छी लगी .. मैने अपने पूजास्‍थान में रखने के लिए उसे कई छोटी छोटी मूर्तियों के आर्डर भी दिए हैं .. कुछ दिनों में उसके , उसके परिवार के और उसकी कला के बारे में लिखकर आपको भेजती हूं !!

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत ही अच्छी पहल..
    ध्यान रखूंगी ऐसे कलाकारों का...जो कला के धनी तो हों...पर आर्थिक रूप से जरूरतमंद.

    उत्तर देंहटाएं
  18. सर मैं कोशिश करूंगा कि अपने अगले ग्राम प्रवास के दौरान ..गुमनामी में जी रहे मधुबनी चित्रकला के कलाकारों को संजो कर ला सकूं ..दुनिया से परिचय कराने के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  19. सुन्दर सार्थक प्रयास। बधाई आपको।

    उत्तर देंहटाएं
  20. कुछ एक शिल्पकारों से जान पहचान है, देखता हूँ क्या भेज सकता हूँ, वैसे भी राजस्थान कला के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है.

    मनोज

    उत्तर देंहटाएं
  21. ललित भाई, आप के इन प्रयासों के लिए आपको बहुत बहुत साधुवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  22. बहुत सार्थक पहल है..अनेक शुभकामनाएँ..

    उत्तर देंहटाएं
  23. सूचना तो मुझे आपने पहले से ही दी थी , उत्साहित तो मैं तभी से था ! आज विधिवत सुभारम्भ देखकर मन-सुमन खिल उठा ! ईश्वर से शुभकामना है कि यह लालित्य निखरता रहे ! कभी कुछ देने लायक हुआ तो सादर प्रेषित करूंगा ! आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  24. इन नकली उस्ताद जी से पूछा जाये कि ये कौन बडा साहित्य लिखे बैठे हैं जो लोगों को नंबर बांटते फ़िर रहे हैं? अगर इतने ही बडे गुणी मास्टर हैं तो सामने आकर मूल्यांकन करें।

    स्वयं इनके ब्लाग पर कैसा साहित्य लिखा है? यही इनके गुणी होने की पहचान है। क्या अब यही लोग छदम आवरण ओढे हुये लोग हिंदी की सेवा करेंगे?

    उत्तर देंहटाएं
  25. शुभकामनाएं. इस दिशा में जो भी सहयोग संभव होगा अवश्य ही करूंगी. आपकी ये पहल गुमनाम कलाकारों के लिए एक पहचान का मंच बन जाएगी.

    उत्तर देंहटाएं