सोमवार, 4 अक्तूबर 2010

उदय की मस्ती---तेरे लिए----------ललित शर्मा

सुनिए उदय की मस्ती---तेरे लिए




19 टिप्‍पणियां:

  1. कितना अच्छा गाया उदय, 'तेरे लिए'
    सुन के मुस्कुराया, उदय तेरे लिए.
    इस पोस्ट पर टिप्पणियाँ जितनी
    हैं सारी की सारी उदय तेरे लिए....

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह, पूत के पांव पालने में.

    उत्तर देंहटाएं
  3. लगता है उदय का भाग्योदय हो रहा है ,बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  4. जियो भाई! चले आये रे हम तो उदय के लिए
    अब जितनी भी है सारी दुआए हैं उदय के लिए
    इस कप में है क्या तनिक तो बताओ
    दूध है इसमें या लस्सी भरी है.
    अकेले नही पीते है,हमे भी पिलाओ
    कैसे ललित भैया बीच में ही बोल पड़े
    नन्ही सी जां को यूँ ना सताओ
    जो भी इसमें सब है उदय के लिए
    लेपटोप आपका, कप है उदय के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  5. ... bahut khoob ... badhaai va shubhakaamanaayen ... chhaa gaye uday !!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह , जूनियर के क्या कहने । बढ़िया कॉन्फिडेंस है ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. क्या बात है ... बढ़िया गाया है उदय ने ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर जी पूत के पांव पीसी पर दिख रहे है, जरुर बाप का नाम रोशन करेगा, बहुत बहुत प्यार उदय को, राम राम

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत बढ़िया,उदय बेटा को ढेर सारा प्यार.....

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह वाह ! उदय भैया इतना सुन्दर गाना गया सुन कर बहुत अच्छा लगा ......ढ़ेर सारा प्यार
    नन्ही ब्लॉगर
    अनुष्का

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत बढ़िया,उदय बेटा को ढेर सारा प्यार.....

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत बढिया उदय । गाते रहो। खुश रहो। बहुत बहुत आशीर्वाद।

    उत्तर देंहटाएं
  13. बेहतरीन गाता है भई...बधाई पहुँचाईये... :) आशीष भी.

    उत्तर देंहटाएं