गुरुवार, 1 अप्रैल 2010

इस पोस्ट का 1 अप्रेल से कोई संबंध नही है

मित्रों आज फ़ूल दिवस है तथा फ़ूल बनाने का काम कल अर्धरात्रि से जारी है। हम भी एक दो जगह जाकर झांसे में आ गए, लेकिन आपसे निवेदन है कि आप झांसे में मत आना। ब्लाग जगत इस अप्रेल फ़ूल दिवस को धुमधाम से मना रहा है, एक जगह पर कुछ विशेष योजना चल रही है फ़ूल बनाने की। अब देखिए कि गोभी का फ़ूल बनाए बनाया जा रहा है कि कोरा फ़ूल बनाया जा रहा है। एक जगह पर आपके लिए बहुत सारी सौगातें लेकर आए हैं। आप उन्हे ग्रहण करें और फ़ूल दिवस का आनंद ले। इसी अवसर पर आपके लिए प्रस्तुत है एक सुंदर सी हास्य व्यंग्य की कविता-------एवं व्यंग्य आलेख







32 टिप्‍पणियां:

  1. धन्यवाद फ़ूल दिवस की इतनी बढ़िया सौगातों के लिए.

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह क्या खूब शायरी है.. बहुत खूब.

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस फूल दिवस की भी शुभकामनाएँ :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. मूर्खों के इस पावन त्‍योहार पर बधाई। हम पूरे वर्ष भर ऐसी ही मूखताएं करते रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  5. रात दोस्त के घर सोया.. वो मुझे सुबह आज पहले उठ गया। और मेरे मोटरसाईकिल घर से निकालकर कहीं दूसरी जगह रख आया, जैसे ही मैं उठा और घर चलने लगा, तो देखा मोटरसाईकल गायब। वो जानबुझकर अब सोने का बहाना करने लगे। मुझे समझ आ गया कि इसने शरारत की है, पर वो मुझे फूल बनाने की भरपूर कोशिश करने लगा। राह चलते से पूछने लगा..किसी को मोटर साईकिल ले जाते हुए देखा, किसी को मोटरसाईकिल ले जाते हुए थे। मैंने कहा, ले पकड़ भाई चाबी, मोटर साईकिल मिल जाए तो ले आना, वरना शिकायत लिखाया आना। अब फिर उसने एक आदमी से पूछा..उसने कहा क्या हुआ, वो बोला कुछ नहीं..मैंने कहा,... साफ साफ कह दो ना, मोटरसाईकिल चोरी हो गई। उसको समझ आ गया, यह तो अप्रैल फूल बनाने वाला नहीं, मैं ही अप्रैल फूल बने जा रहा हूँ, उसने तुरंत मोटरसाईकिल के पास ले जाकर खड़ा कर दिया।

    उत्तर देंहटाएं
  6. मूर्ख दिवस पर बधाई और शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  7. हा-हा, आपको भी शुभकामनाओ सहित !

    उत्तर देंहटाएं
  8. bahut achha,are apko jitna maja fool banaane me aataa hai usese jyada maja fool banne me milta hai.fool day per ek fool ke taraf se ek fool to subhakaamanaaye.

    उत्तर देंहटाएं
  9. हमारे दिन को मनाने के लिये सभी का हार्दिक आभार.

    रामराम.

    -ताऊ मदारी एंड कंपनी"

    उत्तर देंहटाएं
  10. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  11. वैसे मूर्ख दिवस हंसाने हंसाने के उद्देश्य से बनाया गया है . नीरस जीवन में हँसने हंसाने से स्वास्थ्य पर अच्छा असर पड़ता है . इस दिन को हास्य विनोद के रूप में लिया जाता है ... पर इतना भी मूर्ख न बनाए की किसी को नुकसान पहुंचे . व्यंग्य अच्छा लगा ... बधाई स्वीकारें

    उत्तर देंहटाएं
  12. भैया आपने लिखा तो ब्लोगवाणी ने सर आँखों पे बिठाया... मैंने लिखा तो एक दिन बाद ही सदस्यता ही बर्खास्त कर डाली... वह रे ब्लोगवाणी तू कब बनेगी मीठीवाणी...

    मेरा लेख यहाँ पढ़ें
    http://laraibhaqbat.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  13. मूर्ख दिवस पर बधाई और शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  14. फूल दिवस पर सभी फूलों (अंग्रेजी वाले ) को बधाई...!!

    उत्तर देंहटाएं
  15. आज तो फूल खिले हैं गुलशन गुलशन।

    उत्तर देंहटाएं
  16. हा हा हा बहुत अच्छे ललित जी यानि कुल मिला के हम उल्लू हैं ....हैप्पी उल्लू डे सबको जी
    अजय कुमार झा

    उत्तर देंहटाएं
  17. वाह्! इतनी सौगातें मिल गई कि जिसके लिए हमारी तो झोली ही छोटी पड गई :-)

    उत्तर देंहटाएं
  18. हैप्पी मूच्छ दिवस..ओह्! सारी मूर्ख दिवस :-)

    उत्तर देंहटाएं
  19. क्या बात है बधाई इस दिवस की (नाम नही लूँगा)
    एक कौतूहल
    बने या बनाये?

    उत्तर देंहटाएं
  20. @ पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

    शायद आपने सूचना नही पढी
    मुंछ दिवस प्रतिवर्ष 21 मार्च को
    मनाया जाएगा,उक्त घोषणा अविनाश जी कर चुके हैं।
    और यह दिन हम आपके नाम करते है।
    इसे आपके नाम समर्पित किया जाता है।:):)

    उत्तर देंहटाएं
  21. ललित जी एक दो दिनो से आप का ब्लांग खुलने मै देर करता था, लेकिन आज मै ने तीन बार ट्राई किया ओर नही खुला दो बार तो मेरा हेंग ही हो गया

    उत्तर देंहटाएं
  22. आज मूर्ख दिवस मनाने में इतना व्यस्त रहा कि कहीं किसी ब्लॉग पर जाना हुआ नहीं यद्यपि दिवस विशेष का ख्याल रख यहाँ चला आया हूँ और आकर अच्छा लगा. धन्यवाद!!

    उत्तर देंहटाएं
  23. वाह क्या खूब शायरी है.. बहुत खूब.

    उत्तर देंहटाएं