सोमवार, 3 अक्तूबर 2011

रायफ़ल शुटिंग में श्रेयांसि ने जीता गोल्ड मेडल -- ललित शर्मा

हने को तो रविवार था, पर कल का दिन व्यस्ततम दिनों में से एक था। उदय महाराज से वादा किया था कि उसे भी साथ ही शहर ले चलुंगा रायपुर पहुंचे एक मित्र से मिलाने के लिए। उसे तैयार होने को कह कर अंतरजाल में उलझ गया। तभी छोटे भाई ने फ़ोन पर बेटियों को रायपुर छोड़ने की कही। अब उन्हे भी तैयार होने को कहा। मुझे रायपुर साढे नौ बजे तक पहुंचना था, मित्र का स्वागत करने के लिए। स्वागत के लिए बुके के फ़ुल भी उम्दा होने चाहिएं, इसलिए नर्सरी में फ़ोन करके स्पेशल बुके तैयार करने कहा। श्रेया - श्रुति का रायफ़ल शुटिंग का मैच कल हो चुका था पर परिणाम और पुरस्कार आज मिलने थे। दोपहर 2 बजे पुरस्कार वितरण समारोह होने की घोषणा हो चुकी थी। मुझे वहाँ भी उपस्थित होना था। 12 बजे आकांक्षा रेड़िओ श्रोता संघ का कार्यक्रम महाराष्ट्र मंडल रायपुर में था, इसकी सूचना भी अशोक भाई एवं स्वराज्य करुण जी पूर्व में ही दे चुके थे। घर से निकलने में ही विलंब हो गया।

श्रेया-श्रुति को भाई के पास छोड़ा तो उदय भी वहीं रम गया और मेरे साथ जाने को तैयार नहीं हुआ। अब अकेले ही मुझे मित्र के पास पहुंचना पड़ा। वहां पहुंचने पूरे एक घंटे का विलंब हो चुका था। लगा कि अब सारे कार्यक्रम विलंब से ही चलेगें, 12 बजे मित्र से इजाजत लेकर महाराष्ट्र मंडल समता कालोनी के लिए चला। रास्ते में अशोक भाई की लालबत्ती भी दिख गयी। अब दोनो साथ ही कार्यक्रम में पहुंचे। काफ़ी सारे रेड़ियो श्रोता आयोजन स्थल पर उपस्थित थे। अशोक भाई का सभी ने गर्मजोशी से स्वागत किया। वीडियो कैमरे एवं स्टिल कैमरों के फ़्लैश झमाझम चमक रहे थे। स्टेज पर पुराने गानो का मंच से गायन चल रहा था। लोग अपने पसंद के गानों के फ़रमाईश भेज रहे थे। रेड़िओ के श्रोताओं का मनोरंजन हो रहा था। हम भी गानों का मजा लिया। घड़ी के कांटे धीरे-धीरे सरकते जा रहे थे और मुझे दुसरे कार्यक्रम में भी जाना था। इसलिए अशोक भाई को सूचना देकर अगले कार्यक्रम की ओर चल पड़ा

शुटिंग रेंज पर कार्यक्रम 2 बजे प्रारंभ होने की सूचना थी, कार्यक्रम कोई भी हो नियत समय पर प्रारंभ हो नहीं पाता, आधा एक घंटे की देरी तो चलती ही है। मैं कार्यक्रम स्थल पर ढाई बजे के लगभग पहुंचा। मुख्य अतिथि के रुप में हमारे प्रदेश के गृहमंत्री ननकी राम कंवर पधार चुके थे। स्वागत कार्यक्रम प्रारंभ ही हुआ था। मैने उदय के साथ कुर्सी ग्रहण की। मुख्यातिथि के भाषण के पश्चात पुरस्कार वितरण कार्यक्रम शुरु हुआ। श्रेया को जुनियर वीमेन .177 कैलिवर एयर रायफ़ल 10 मीटर इवेंट में गोल्ड मेड़ल देने की घोषणा हुई। श्रेया उपस्थित न होने के कारण गोल्ड मेडल और प्रमाण-पत्र मैंने ग्रहण किया। यह वर्ष 2011 की उपलब्धि बच्चों के नाम रही। बेटियों को उचित मार्गदर्शन एवं माता-पिता का सहयोग मिले तो वे किसी से कम नहीं हैं।  

34 टिप्‍पणियां:

  1. श्रेया को बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ....विवरण का आभार...

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह वाह वाह....
    शुभाशीष/शुभकामना/बधाई/

    उत्तर देंहटाएं
  3. श्रेया को बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  4. पूरे परिवार को बधाई व शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह वाह .... बहुत बहुत बधाई और स्नेहासिक्त मंगल कामनाएं बिटिया के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह बिटिया श्रेया को गोल्‍ड मेडल जीतने पर ढेर सारा आशीर्वाद। आपको बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह ललित भाई , श्रेया को हमारी बहुत बहुत बधाई और आशीष । श्रेया से कहिएगा कि उसका एक ईनाम दिल्ली से भी पक्का हो गया इस उपलब्धि पर । हम जब भी पहुंचे उसके लिए लेते आएंगे । श्रेया को ढेर सारा स्नेह , बिटिया की सफ़लता बहुत गर्व का अनुभव कराती है । शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत -बहुत बधाई हो .. श्रेया के बापूजी को ...? इस बापू -जयंती पर --.बेटी की तरफ से यह अनोखा उपहार ---- बच्चो की तरक्की ही हमारी उपलब्धी हैं ..

    उत्तर देंहटाएं
  9. बेटियों को उचित मार्गदर्शन एवं माता-पिता का सहयोग मिले तो वे किसी से कम नहीं हैं।

    और यह प्रमाणित कर हैं बेटियां आज के दौर में .... श्रेयांसि के साथ - साथ आप सबको हार्दिक बधाई ....!

    उत्तर देंहटाएं
  10. श्रेया बिटिया को बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. श्रेया को बहुत बधाई और उसके उज्जवल भविष्य के लिए ढेरों शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  12. श्रेया को हमारी ओर से बहुत बहुत बधाई और स्नेह...बेटियों को उचित मार्गदर्शन एवं माता-पिता का सहयोग मिले तो वे किसी से कम नहीं हैं... :)

    उत्तर देंहटाएं
  13. खुशकिस्मत हैं आप इतनी प्यारी और प्रतिभाशाली बेटी मिली है !श्रेयांसि को सस्नेह आशीर्वाद !

    उत्तर देंहटाएं
  14. many-many congratulations to Shreya... :)
    aisa laga jaise ham bhi aapke hi saath isi taabadtod aur jaldibaazi mei lage rahen ho... :)

    उत्तर देंहटाएं
  15. भाई वाह ! आखिर शेर सिंह की बेटी है, तो अव्वल तो रहना ही था .
    बहुत बहुत बधाई बिटिया को और आप सब को .

    उत्तर देंहटाएं
  16. वाह आखिर होनहार विरवान के होत चीकने पात.
    सॉरी.. नेट की अस्वस्थता के बधाई बधाई देने में देरी हो गई.
    श्रेया को ढेर सारी बधाई और असीम शुभकामनाये.वो निरंतर प्रगतिपथ पर बढती जाये.

    उत्तर देंहटाएं
  17. श्रेया और आप सभी को बहुत बहुत बधाई। श्रेया को उज्जवल भविष्य के लिये शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  18. श्रेया को बहुत बधाई एवं एवम आशीर्वाद, ईश्वर करे खूब उन्नति करें.

    रामराम

    उत्तर देंहटाएं
  19. हमारी ओर से भी बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं



  20. बहुत बहुत बधाइयां और शुभकामनाएं श्रेयांसि बिटिया को और आपके पूरे परिवार को ! …और ललित जी आपको !


    साथ ही
    आपको सपरिवार
    नवरात्रि एवं दुर्गा पूजा की बधाई-शुभकामनाएं-मंगलकामनाएं !

    -राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  21. श्रेया बिटिया को आशीष और हार्दिक बधाई . आपको सपरिवार शारदीय नवरात्रि और अष्टमी पूजन की शुभकामनाएं .

    उत्तर देंहटाएं
  22. shreyaa bahut bahut aur bahut badhaai bas yunhi aage badhte raho apne lakshy ko bhednaa sikh gai ho ab wo din dur nahi jab internation award se swagt hogaa hamaari shubhkamnaa dilse...

    उत्तर देंहटाएं
  23. अहा मन प्रशन्न हुआ ... बस यूँही अपने विचारों को खुला रखना और भेदते रहना अपने लक्ष्य को.. फिर ये दुनिया तुम्हारे कदमो में होगी ... आज तो भर पेट घास मिल गई .....

    उत्तर देंहटाएं
  24. श्रेया को बहुत बधाई और उसके उज्जवल भविष्य के लिए ढेरों शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  25. निश्चित ही श्रेया ने ना केवल अपना बल्कि पूरे परिवार के साथ साथ अभनपुर का गौरव बढ़ाया है . भविष्य में भी हम सबको उससे काफी उम्मीदें है . शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  26. श्रेया को उसके उज्जवल भविष्य के लिए ढेरों शुभकामनायें। अपने माँ बाप और देश का नाम रोशन करे । ललित जी आपके गुण बिटिया मे भी आए है ।

    उत्तर देंहटाएं