शनिवार, 5 फ़रवरी 2011

अविष्कार नए तरह के हेलमेट का

आवश्यकता ने किए अविष्कार। इजिप्त के गृह युद्ध में नागरिकों ने हमलो से सिर बचाने के साधन ढूंढ लिए।

















दैनिक छत्तीसगढ से साभार


25 टिप्‍पणियां:

  1. मुझे तो पहले बाला सबसे अच्छा लगा,

    चौथे बाले ने क्या किया है समझ में नहीं आया,

    और पांचवा अभी नया है, कभी पत्थर सर पे पड़ा नहीं है इसलिए पत्थर से बचने के लिए पत्त्थर ही सर पर बाँध लिया है|

    :) :D

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा हा हा हा हा हा ललित सर, कहाँ से खोज लाये इतने सारे हेमलेट. इनकी तो अच्छी प्रदर्शनी लगाई आपने.

    उत्तर देंहटाएं
  3. vaah lalit bhai helmet ki kai qismen dikhaa kr aapne to mn men laalch khdaa kr diya he hmare kota men in dinon helmet ke naam pr lut mchi he ab hm dekhte hen shayd aapke in triqon se km ho jaaye bhtrin jankari . akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  4. हम तो सोचे थे जुगाड़ सिर्फ भारतीय ही करते हैं !

    उत्तर देंहटाएं
  5. सचमुच या फोटो खिंचाने के लिए पोज ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. भारत की जुगाड़ प्रणाली हाइजैक हो गई !

    उत्तर देंहटाएं
  7. हा-हा-हा
    सर के लिये व्हाट एन आईडिया सर जी

    उत्तर देंहटाएं
  8. इससे जाहिर हुआ जिन्दगी को बचाने के लिए हेलमेट जरुरी है ....

    उत्तर देंहटाएं
  9. हा हा हा ..आखिरी वाला बेस्ट लगा :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत खूब ... लगे रहिये महाराज ... मज़ा आ गया ... जय हो !

    उत्तर देंहटाएं
  11. हा हा... पहले वाला ज्यादा सही है.. दो काम हो सकते है उससे... एक तो हेलमेट दूसरा पानी भी भर लो बोतल में.... प्यास लगी तो.....

    उत्तर देंहटाएं
  12. मस्त जी... वेसे बीबी के बेलन से बचने के लिये हम सब भी इसे इस्तेमाल कर सकते हे ना :)

    उत्तर देंहटाएं
  13. @योगेन्द्र पाल

    चौथे वाले ने सामने ब्रेड और कान पर लौकी जैसी कुछ बांध रखी है.

    उत्तर देंहटाएं
  14. अरे वाह .... जुगाड़ टेक्नालाजी वहाँ भी कारगर है...

    उत्तर देंहटाएं
  15. मस्त जी...
    Read More: http://lalitdotcom.blogspot.com/2011/02/blog-post_05.html

    उत्तर देंहटाएं
  16. सब बढ़िया है........... आवश्यकता इस अविष्कार की जननी बन गयी हो शायद.......

    उत्तर देंहटाएं
  17. आवश्यकता आविष्कार की जननी है...

    उत्तर देंहटाएं
  18. कमाल के हेलमेट हैं ...सब के सब ..बहुत ही बढिया हैं

    उत्तर देंहटाएं
  19. आवश्यकता इस अविष्कार की जननी बन गयी है

    उत्तर देंहटाएं
  20. कुछ दिनों से बाहर होने के कारण ब्लॉग पर नहीं आ सका
    माफ़ी चाहता हूँ

    उत्तर देंहटाएं