बुधवार, 2 फ़रवरी 2011

ब्लॉग पर ब्लेक आउट-विरोध एवं निंदा

अभनपुर क्षेत्र में विगत एक माह से अघोषित विद्युत कटौती हो रही है। विगत एक माह से कभी भी घंटो बिजली काट दी जाती है। हम अघोषित विद्युत कटौती का पुरजोर विरोध एवं निंदा करते हैं और इसीलिए कोई पोस्ट लिखने की अपेक्षा ब्लॉग पर  एक दिन के लिए ब्लेक आउट कर रहे हैं।

-

26 टिप्‍पणियां:

  1. vaah baai vaah kyaa andaaz he srkar ke nikmme pn ko blek out krne kaa mzaa aa gyaa is gaandhi giri men . akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  2. क्‍या करें, नो कमेंट इज आल्‍सो अ कमेंट.

    उत्तर देंहटाएं
  3. बिजली अफसरों से पूछिए ऐसा क्यों हो रहा है और इस बारे में उनका क्या कहना है ? शायद कोई रास्ता निकल आए !

    उत्तर देंहटाएं
  4. अँधेरे में तो साया भी साथ छोड़ जाता है ....तभी तो कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा है

    उत्तर देंहटाएं
  5. वैसे विकल्प के रूप में सौर-ऊर्जा प्रणाली का भी उपयोग किया जा सकता है. क्रेडा वालों से चर्चा कीजिए.

    उत्तर देंहटाएं
  6. कुछ नही दिखा ललित भाई। सब काला ही काला है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. गाँधीवादी तरीका है विरोध का ...
    अच्छा है !

    उत्तर देंहटाएं
  8. शुक्र है की आपको सिर्फ दो घंटों की कतौते झेलनी पड़ रही है... यहाँ तो गिनना पड़ता है की बिजली रहेगी कितनी देर???
    हालात बद से बत्तर होते जा रहे हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  9. are sarakaar to chahtee hi hai k andhera bana raahe taki kaale kaam kiy ja sake ..

    aapkaa virodh jatate ka tareeka to achchha hai , magar kuch sarkaar ko bhi to najar aay ..

    उत्तर देंहटाएं
  10. विरोध जताने का एक बढिया तरीका !!
    फायदा हो तो अच्‍छा है !!

    उत्तर देंहटाएं
  11. इसे कहते हैं, विरोध प्रदर्शन!!

    उत्तर देंहटाएं
  12. विरोध करने का अच्छा तरीका किन्तु क्या इससे सरकार पर कोई असर होगा? आप बिजली कटौती के लिए इतना सोच रहे है उन क्षेत्र विशेष के लोगो के लिए ये अपने आप में बडी बात है.

    उत्तर देंहटाएं
  13. कम से कम ब्लैकआउट पोस्ट करने के लिए तो बिजली मिल है गयी :P

    उत्तर देंहटाएं
  14. हमारा समर्थन है।(खाली कैसे दें, बंगलोर में तो पॉवर है।)

    उत्तर देंहटाएं
  15. धन्यवाद मित्रों साथ देने के लिए,
    हमारी कोशिशें रंग लाई हैं।

    आभार

    उत्तर देंहटाएं