बुधवार, 16 फ़रवरी 2011

बसंत पंचमी के अवसर पर काव्य गोष्ठी

संतोषी नगर में बसंत पंचमी के अवसर पर काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। सरस्वती पूजन के पश्चात कार्यक्रम संचालन का भार श्री शिवराम शर्मा को सौंपा गया और कवि गोष्ठी प्रारंभ हो गयी।

इस कवि गोष्ठी में दुर्भाग्य से मैंने ही 40 बसंत देखे थे बाकी सभी 60 से अधिक बसंत देख चुके थे। कहने का मतलब यह है कि काव्य रचना के मामले में मेरा अनुभव कम था।

सभी उपस्थित कवियों ने अपनी-अपनी रचना का पाठ किया। जो धूरंधर थे उन्होने चौके छक्के लगाए एवं श्रोताओं के छक्के छुड़ाए एवं हमारे जैसे रंगरुटों ने एक्का दुआ से ही काम चलाया। लेकिन आऊट नहीं हुए क्रीज पर ड्टे ही रहे।

संतोषी नगर की काव्य गोष्ठी में मुझे पहली बार शामिल होने का अवसर मिला। सभी के पास अपनी-अपनी डायरी थी।

मेरे पास डायरी न होने के कारण मुझे लैपटॉप से काम चलाना पड़ा। बसंत का मौसम हो और गीत कविताओं में मौसम का असर न दिखे, यह नहीं हो सकता।

कुछ सुंदर गीत श्री शीतलाबख्श सिंह द्वारा प्रस्तुत किए गए। शिवराम शर्मा , सत्यप्रकाश चौबे , रिछारिया, राममूरत शुक्ला, कैलाश तिवारी, नंदलाल यादव जी ने काव्य के माध्यम से साक्षात ॠतुराज को ही धरती पर उतार दिया। गोष्ठी श्री शीतलाबख्श सिंह के प्रांगण में हुई।

इस अवसर पर सुधि श्रोताओं के साथ गणमान्य अश्विनी कुमार तिवारी, दशरथ शूक्ला, श्रीकांत दुबे, नरेश मिश्रा, अरविंद सिंह, एस बी सिंह, डॉ नरेन्द्र बहादुर सिंह उपस्थित थे।

नंदलाल यादव ने छत्तीसगढी में सुंदर गीत सुनाया। हमने भी एक गीत और दो कविताएं सुनाई। इस आयोजन का बैम बजर पे लाइव टेलीकास्ट किया गया था।

जिससे कई प्रदेशों में इस काव्य गोष्ठी के लाईव प्रसारण का आनंद लिया गया। साऊंड सेटिंग नहीं होने के कारण आवाज में कट रही थी। गोष्ठी के आयोजक साधूवाद के पात्र हैं। कवि गोष्टी के कुछ गीतों की रिकार्डिंग इसमें लगा रहा हूँ। आप उसे सुन सकते हैं।


17 टिप्‍पणियां:

  1. आनन्द आ गया सब को सुन कर...आपकी रिकार्डिंग कहाँ है बाबू???

    उत्तर देंहटाएं
  2. @Udan Tashtari

    जब मेरी बारी आई तो रिकार्डिंग करना ही भूल गया :(

    उत्तर देंहटाएं
  3. मजा आ गया गया जी बहुत ही शानदार ...काव्य गोष्ठी

    उत्तर देंहटाएं
  4. अनोखी पहल, अनोखा प्रयास. बधाई .

    उत्तर देंहटाएं
  5. vaah lalit bhaai bdhe bdhe log nyi nyi baaten or hmen bhul jane ki koshish men hmen yaad rkhne ki khurafaaten goshti ki bhtrin riporting riporting kya khen jivnt riporting bdhaayi . akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह जी वाह । मज़ा आ गया इस युवा काव्य गोष्ठी में ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. भुतपूर्व युवाकवियों का काव्‍यपाठ का आनन्‍द..........; मजा आगे ग

    उत्तर देंहटाएं
  8. भैया, बढ़िया कार्यक्रम की बधाई...
    सुन्दर रचनाएं सुनकर मजा आ गया...
    पर भैया आपकी रेकार्डिंग....?
    पुनः बधाई... सादर..

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुकून से बैठकर सुनेगें बसंतों की बहार।

    उत्तर देंहटाएं
  10. बढ़िया गोष्ठी रही..अगली बार अपनी रिकॉर्डिंग भी करियेगा :)

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुंदर जी , लेकिन आप की रचना कही सुनाई नही दी? शायद बहुत भारी होगी, लेकिन आप बेधडक प्रकाशित करे जी हम सह लेगे, अब सहने की आदत हो गई हे. आप की सुंदर सुंदर रचना के बिना ब्लाग जगत सुना सुना लगता हे. राम राम

    उत्तर देंहटाएं
  12. वाह सबकी रचनाएँ एक से बढ़कर एक हैं हमें पता चलता तो हम आपकी रिकार्डिंग करने जरुर पहुँच जाते...बहरहाल काव्य गोष्ठी की सफलता के लिए आप सहित आयोजकों को बधाई |

    उत्तर देंहटाएं
  13. प्रिय बंधुवर ललित शर्मा जी
    सादर सस्नेहाभिवादन !

    वाह वाह वाह ! बहुत ख़ूब !
    आपकी पोस्ट पर चक्कर तो दो दिन से लगा रहा हूं … हाज़िरी रज़िस्टर में दस्तख़त आज कर रहा हूं …

    हमने भी बसंत पंचमी पर यहां काव्यगोष्ठि में शिरकत की अगली बार दिकॉर्डिंग करने का आइडिया आपसे ले'कर जा रहा हूं … :)

    तीन दिन पहले प्रणय दिवस भी तो था मंगलकामना का अवसर क्यों चूकें ? :)
    प्रणय दिवस की मंगलकामनाएं !

    ♥ प्रेम बिना निस्सार है यह सारा संसार !♥
    बसंत ॠतु की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  14. मेरी फोटो तो दिख ही नहीं रही ललित भाई :-(
    शुभकामनायें आपको !

    उत्तर देंहटाएं