सोमवार, 11 जनवरी 2010

परिवार नियोजन केंद्र के बाहर बोर्ड लगा है!!

आज कुछ हल्का फुल्का हो जाये-राजीव जी की कथा पढ़ के आ रहा हूँ कुछ तो असर होगा.

(१)
परिवार नियोजन केंद्र के बाहर बोर्ड लगा है. 
"अपने माँ-बाप की गलतियों से सबक लें. परिवार नियोजन के उपाय करें." 


(२)
चंदू का नर्सरी में एडमिशन के लिए इंटरव्यू चल रहा था.
"तुम्हारे पापा क्या करते हैं?" इंटरव्यू बोर्ड के चेयरमेन ने कहा.
"जी वही जो मम्मी करती है" चंदू ने बताया.
"और मम्मी क्या करती हैं?" चेयरमेन ने आगे पूछा
"वही जो पड़ोस की स्वीटी आंटी कहती है" चंदू ने आगे बताया
"तो इसका मतलब यह हुआ की तुम्हारे पापा अल्टीमेटली स्वीटी आंटी 
को फालो करते हैं, हमेशा उनके पीछे जाते हैं" 
इंटरव्यू बोर्ड के चेयरमेन ने चंदू को फंसाने की कोशिश की.
"जी सच तो यही है, पर जब मैं ऐसा कहता हूँ, तो मम्मी मेरी पिटाई कर देती है".
 चंदू ने अपनी प्राब्लम साफ कर दी. 

6 टिप्‍पणियां:

  1. शुक्र है यह नहीं लिखा था उस बोर्ड पर कि अपने माँ-बाप की गलतियों का पछतावा करे !
    :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा हा हा ! परिवार नियोजन का मन्त्र ---एक साल में, दो से ज्यादा बच्चे , कभी नहीं।

    उत्तर देंहटाएं