गुरुवार, 31 दिसंबर 2009

ललित डाट कॉम का उदय

मैने इस ब्लॉग पर 15  सितम्बर 2009 मंगलवार हिंदी दिवस से लिखना प्रारंभ किया था. सामाजिक सरोकारों से संबधित विषयों पर एक अलग ब्लाग होना चाहिए. 

यह सोच कर ललित डाट कॉम का उदय हुआ. जिस दिन मैंने  इस पर पहली पोस्ट डाली, उस दिन हिंदी दिवस था. मेरा प्रथम आलेख हिंदी दिवस को ही समर्पित था. 

१५ सितम्बर को इस लेख को कितने पाठकों ने पढ़ा? ये तो मुझे नहीं पता. लेकिन १६ सितम्बर की दो टिप्पणियाँ दिख रही हैं. 

पहली है संगीता पुरी १६ सितम्बर २००९ ६:५७ AM  िबिल्‍कुल सही कहना है आपका .. हिन्‍दी के प्रति आपकी भावना बहुत अच्‍छी लगी Udan Tashtari १६ सितम्बर २००९ ७:०० ऍम सही कहा..सहमत!! 

उस दिन मैने पहली पोस्ट मे लिखा था। इन १०० पोस्टो में मैंने ब्लाग जगत को बड़े करीब से साक्षी भाव से देखा है. यहाँ होती हुयी हलचलों से मैं वाकिफ हुआ. 

ब्लॉग के बुखार को समझने की कोशिश की. जीवन में नए ब्लॉग मित्र बने. सभी से मुझे सहयोग मिला. यह आभासी दुनिया भी वास्तविक जीवन के बड़े करीब लगी. क्योंकि सारे किरदार तो वहीं से आते हैं. कोई अलग दुनिया नहीं है. 

वही दुनिया की अच्छाईयाँ-बुराईयाँ, पक्ष-विपक्ष मैंने यहाँ पाए. कुछ तो सिर्फ इसी में उलझ रहते हैं तो कुछ योगी भाव से सृजन में लगे हैं. हां कुछ युवा- नव जवान साथी हैं जो पूरी  उर्जा के साथ ब्लोगिंग को अंजाम दे रहे हैं. 

मैं उन्हें धन्यवाद देता हूँ और आग्रह करता हूँ. वे लेखन जैसे शुभ और पवित्र कर्म को अहर्निश जारी रखे. ताकि आने वाली पीढ़ी आपको एक आदर्श के रूप में याद रख सके. 
मैंने यहाँ पर बहुत कुछ सीखा. इन 100 दिनों में मैंने बहुत कुछ अनुभव किया. इन 100 पोस्टों में मुझे पढ़ने के लिए लगभग 69451 पाठक आये. 

अभी पोस्ट लिखे जाने तक 613 टिप्पणियाँ प्राप्त हुयी. गूगल में पेज रेंक 3 है. यह सतत लेखन का परिणाम ही है.  

इस अवधि में जिन्होंने मुझे प्रत्यक्ष-और अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग दिया. मैं उनका आभारी हूँ एवं सभी पाठको का अभिनन्दन करता हूँ जिन्होंने मेरे लेखन को पढ़ा और सराहा. 

कुछ विशिष्ट साथी हैं जो निरंतर मेंरा उत्साह वर्धन करते है. उनका उल्लेख एक अलग पोस्ट में करूँगा. सभी को मेरा विनम्र प्रणाम. नूतन वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएं.

25 टिप्‍पणियां:

  1. इस जयंती पर बधाई और आशा है यह आंकड़ा नए वर्ष में १००१ पर पहुंचेगा

    उत्तर देंहटाएं
  2. ललित भाई,
    सच लगता ही नहीं चार-पांच महीने के छोटे से अरसे में ही ब्लॉग मित्रों का इतना बड़ा संसार बन जाएगा...

    कामना है कि आप सचिन तेंदुलकर की तरह रिकॉर्डों का अंबार लगाएं...

    नया साल आप और आपके परिवार के लिए असीम खुशियां ले कर आए...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  3. १०० प्रविष्टियों का आँकड़ा आपकी सक्रियता की कहानी कहता है । आगत की शुभकामनायें ।
    आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. शातकीय पारी की बहुत बधाई और अभी कई शतक लगाना है...अनेक शुभकामनाएँ. :)


    यह अत्यंत हर्ष का विषय है कि आप हिंदी में सार्थक लेखन कर रहे हैं।

    हिन्दी के प्रसार एवं प्रचार में आपका योगदान सराहनीय है.

    मेरी शुभकामनाएँ आपके साथ हैं.

    नववर्ष में संकल्प लें कि आप नए लोगों को जोड़ेंगे एवं पुरानों को प्रोत्साहित करेंगे - यही हिंदी की सच्ची सेवा है।

    वर्ष २०१० मे हर माह एक नया हिंदी चिट्ठा किसी नए व्यक्ति से भी शुरू करवाएँ और हिंदी चिट्ठों की संख्या बढ़ाने और विविधता प्रदान करने में योगदान करें।

    आपका साधुवाद!!

    नववर्ष की बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाएँ!

    समीर लाल
    उड़न तश्तरी

    उत्तर देंहटाएं
  5. नव वर्ष की आपको बहुत बहुत शुभकामनाएं |

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत-बहुत बधाई।
    आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  7. नए साल में आप का लेखन और परवान चढ़े।

    नववर्ष पर आप को बहुत बहुत शुभकामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं
  8. नए वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह सर फ़िर तो डबल बधाई और शुभकामना लीजिए

    उत्तर देंहटाएं
  10. इस जयंती पर बधाई और शुभकामनायें !

    नववर्ष की बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत बहुत बधाई
    नया वर्ष मंगलमय हो

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत बहुत बधाई भाई साहब.

    100 से 1001 की ओर बढते कदम को हमारा नमन.

    हिन्दी ब्लागजगत मे जगमग छत्तीसगढ का प्रतिनिधित्व करने के लिये ढेरो शुभकामनाये.

    उत्तर देंहटाएं
  13. शतकीय पारी की बहुत बधाई ललित जी !

    उत्तर देंहटाएं
  14. ललित जी, शतक मुबारक हो। नववर्ष शुभ हो।

    उत्तर देंहटाएं
  15. सौ वीं पोस्ट की बहुत बहुत बधाई।

    आपको व आपके परिवार को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  16. वाह, ललित भाई। १०० दिनों में १०० पोस्ट।
    ये तो बहुत बड़ी उपलब्धि है। आप इसी तरह हिंदी जगत की सेवा करते रहें।
    आपको और आपके समस्त परिवार को नव वर्ष की ढेरों शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  17. .
    .
    .
    आदरणीय ललित जी,
    १०० वीं पोस्ट की बधाई,

    सभी को नववर्ष २००९ की शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  18. बधाई ललित जी...
    शुभकामनाएँ...आगे भी ऐसे ही लिखते रहिए....

    उत्तर देंहटाएं
  19. वाह जी, बधाई 100 की
    स्नेही ब्लॉग मित्रों का संसार और बढ़े, यही कामना

    आपको पाश्चात्य नववर्ष की शुभकामनाएँ

    बी एस पाबला

    उत्तर देंहटाएं
  20. ललित जी नए वर्ष की ढेर साड़ी बधाईया आपको और आपके पुरे खानदान को !!! मजे करो |रात को आपको विश करने आया था पर आपका ये पेज खुलने में इतना टेम लेता है की मैं बेटेम हो जता हूँ !! कल पुरे दिन नेट नहीं था !!! बिच बिच में एक दो बार आया और चला गया!!!

    उत्तर देंहटाएं