सोमवार, 22 मार्च 2010

21 मार्च मेरा जन्मदिवस

21 मार्च का दिन भी खास है-इस तारीख को दिन और रात दोनो बराबर होते हैं--खगोल शास्त्र तथा ज्योतिष  की गणना के परिप्रेक्ष्य में यह तारीख महत्वपुर्ण है. जिस तरह हमे सुबह होने की सूचना सूर्य से मिलती है उसी तरह ब्लाग जगत में जन्मदिन की सूचनाएं बीएस पाबला जी के ब्लाग'जन्मदिन'के उदय होने से मिलती हैं। इनका ब्लाग भी मुझे सूर्य के मानिंद लगता है।  

सूर्य और जन्मदिन ब्लाग मे कुछ समानताएं मुझे नजर आई। सूर्योदय नित्य होता है-इनका ब्लाग भी जन्मदिन की सूचनाएं नित्य ही लाता है। सूर्य का उदय होना निश्चित है--इनके ब्लाग का भी जन्मदिन की सूचना देना निश्चित है। 

सूर्य अपने आकर्षण में समस्त ब्रह्माण्ड को बांधे रखता है तो इनका ब्लाग भी समस्त ब्लाग जगत को जन्मदिन की सूचनाओं द्वारा बांधे रखता है। सूर्य अडिग है--अभी तो इनका ब्लाग भी अडिग है। सूर्य प्रकाशित है तथा इनका ब्लाग भी प्रकाशित होता है। 

कल हमारे जन्म दिन की सूचना यहीं से जारी हुई। 21 मार्च का सुर्योदय होते ही प्रथम हमारे पुत्र चंदु ने जन्म दिन की शुभकामनाएं दी। मुझे सबसे पहले आशीष जन्मदिवस का राज भाटिया जी से प्राप्त हुआ- आज से 10 दिनों पहले जी फ़ोन पर उन्होने मुझे रात को 12बजे जन्मदिवस की बधाई दी। तो मै भी चौंक पड़ा, अभी 10दिन पड़े हैं और राज जी बधाई अभी से दे रहे हैं। मैने उन्हे बताया कि जन्मदिन तो 21तारीख को है तो उन्होने कहा अभी तो रखिए शुभकामनाएं 21तारीख को और दे देगें। ये हुई ना कोई बात्।

ब्लाग जगत के साथियों का स्नेह प्राप्त  कर मैं अभिभूत हुँ। सभी का आशीष और स्नेह मुझे भरपुर प्राप्त हुआ जिसे मै चुका नही सकता। पाबला जीदीपक 'मशाल' जी, , ताऊ रामपुरिया जी , अनुप शुक्ल जीप्रवीण पथिक जी, पंकज मिश्रा जी, गिरीश बिल्लौरे जी, खुशदीप सहगल जी,राजकुमार सोनी जी, डॉ महेश सिन्हा जी, अवधिया जी, राजकुमार ग्वालानी जी, आदि ने फ़ोन पर बधाई दी। अवधिया जी ने तो एक पोस्ट ही लगा दी हमारे जन्मदिन पर, जिस पर पद्म सिंहजी ने अच्छी टिप्पणी की है ,मै उनका आभारी हुँ, जो अपना अनमोल स्नेह मुझे प्रदान किया।

मेल-एस एम एस-फ़ोन-टिप्पणियों एवं चैट द्वारा सभी मित्रों एवं भाई-बहनो का अपार स्नेह प्राप्त हुआ। अपनी शुभकामनाएं प्रेषित करके मुझे---'अदा'जी , एम वर्मा जी, हरकीरत ' हीर'जी, संजय भास्कर जी, अरविन्द मिश्र जी, वाणी गीतजी, गिरिजेश रावजी, डॉ. रूपचन्द्र शास्त्रीजी, रजनीश परिहार जी, अलबेला खत्री जी, अजय कुमार झाजी, दिनेशराय द्विवेदी जी, संगीता पुरी जी , अविनाश वाचस्पति जी दोबारा भी आए टिप्पणी के लिए--दे्खिए आप भी, कुलवंत हैप्पी, डॉ.श्रीमति अजित गुप्ता जी, धीरू सिंह जी, दीपक 'मशाल'जी, विवेक रस्तोगी जी, श्रीश पाठक 'प्रखर' S B तमारे जी, राजू मिश्र जी, पी.सी.गोदियाल जी, उड़न तश्तरी समीर लाल जी, प्रीति जी, अनीता कुमार जी, संजीत त्रिपाठी जी, विजय प्रकाश सिंहजी, राज भाटिय़ाजी, पं.डी.के.शर्मा"वत्स" जी, मनोज कुमारजी, खुशदीप सहगल जी, संगीता स्वरुप जी, इरफ़ान भाई कार्टुनिस्ट, रतन सिंह शेखावत जी, शिखा वार्ष्णेय जी, इंदु पूरी जी, विजय तिवारी " किसलय" जी, गगन शर्मा जी,संजीव तिवारी जी, डॉ टी एस दराल, गिरीश पंकज, अना, यशवन्त मेहता "फ़कीरा", राजी्व तनेजा जी,, Bhavesh (भावेश )ने अपना स्नेह प्रदान किया।

इधर आरकुट तथा फ़ेस बुक पर भी शुभकामनाएं आई उनमें अनिल पुसदकर जी,कान्हा मेरा यार,: ADITYA....... (A:,महेन्द्र मिश्रा:, राज जी,जतिंदर:, अंजन:, राजेश जी, संजीव सलिल जी,  HS:, शेफाली पाण्डे जी, पोद्दार जी, ▪▪विपिन▪▪:,शहरोज भाई, kash aap mere:, पंडित प्रभाकर:जी, उत्तम कुमार जी, सुभाष शर्मा जी,रजत नरुला, डॉ.पंकज, मानव मेहता, UMI:,देवांशु, अजीत शर्मा, बेमेतरा, Star News Agency:,पियूष गुप्ता, अरुण कुमार झा, राजेश, अमित क सागर, समीर भाई, मनसा आनद जी , रश्मि जी , arun kumar:, missões iza:एवं अन्य लोगों के भी बधाई सन्देश प्राप्त हुए......और एक बार फ़िर पाबला जी ने फ़ोन करके बधाई दी।
समापन पर बहन शोभना चौधरी जी का भी सन्देश मेल के माध्यम से प्राप्त हुआ- ---

ये माटी के चोला के कोई ठिकाना नही है----एक गीत हमारे छत्तीसगढ मे गाया जाता है --बईहा झन करबे गरब गुमान भरोसा एक पल के नईए--जब भरोसा एक पल का नहीं है तो फिर किस चीज का गर्व और गुमान लेकर हम बैठे हैं--इस गीत में यही कहा जा रहा है. मै भी यही सो्चता हुँ तथा चिंतन करता हुँ--हमेशा लोगों को खुश देखना चाहता हुँ जिससे मैं भी खुश रह सकुं। यही जीवन का सार है-आप खुशी देकर ही खुशी प्राप्त कर सकते हैं, जो देंगे वही मिलता है। यह प्रकृति का नियम हैं।

आपने मुझे अपना स्नेह खुशी दी, मेरे जन्मदिवस मे शरीक होकर अपना आशीष दिया इसके लिए मै आप सभी का आभार व्यक्त करता हुँ तथा धन्यवाद देता हुँ। आशा करता हुँ कि इसी तरह आपका सहयोग मिलता रहेगा। अगर  गलती से किसी के भी नाम का उल्लेख करना मै भुल गया हुँ तो कृपया मुझे क्षमा करेगें तथा अपना स्नेह बनाए रखेंगें।

21 टिप्‍पणियां:

  1. जन्मदिन की हार्दिक बधाई .........!
    .................देर से ही सही !

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत आभार...पुनः बधाई!!

    हिन्दी में विशिष्ट लेखन का आपका योगदान सराहनीय है. आपको साधुवाद!!

    लेखन के साथ साथ प्रतिभा प्रोत्साहन हेतु टिप्पणी करना आपका कर्तव्य है एवं भाषा के प्रचार प्रसार हेतु अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें. यह एक निवेदन मात्र है.

    अनेक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  3. एक ठौ और बार लीजिए जन्मदिन की बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  4. लीजिए तीसरी बार मूंछधारी जी को जन्‍मदिन का मनवादिन बनने हेतु शुभकामनाएं। अगले बरस से पूरे हिन्‍दी ब्‍लॉगजगत में 21 मार्च को मूंछ दिवस के नाम से मनाया जाने की घोषणा की जाती है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. janam din kee bahut bahut badhaee...
    der se aae durust aae.....:)

    उत्तर देंहटाएं
  6. ईसर जी को जन्मदिवस की पुन: बधाईयां जी.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  7. जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाइयाँ.

    उत्तर देंहटाएं
  8. humne jo ghar banaya hai itna badaa, wah kayam rahe........khushiyon kee saugaat yun hi milti rahe

    उत्तर देंहटाएं
  9. जन्मदिन की शुभकामनाएँ.........."
    amitraghat.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  10. खुशियाँ हम-आपकी हुई हज़ार!!

    आभार भाई आभार!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. ब्लॉग परिवार की जय हो ।
    आपको फिर से बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  12. ललित भईया....
    एक बार और कह दे रहे हैं.... हैप्पी बड्डे.....!!
    और इस बार हम शुद्ध देवनागरी लिपि में कहें हैं ...हाँ नहीं तो..!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. जन्मदिन की शुभकामनाएँ.........."

    उत्तर देंहटाएं
  14. जन्मदिन की हार्दिक बधाई .........!

    उत्तर देंहटाएं
  15. जन्मदिन की हार्दिक बधाई .........!

    उत्तर देंहटाएं