रविवार, 28 मार्च 2010

अल्पना के ग्रीटिंग्स की प्रदर्शनी आर्ट गैलरी रायपुर मे

ललित शर्मा द्वारा निर्मित

सृजनशील हाथ सृजन कार्य मे निरंतर लगे रहते हैं, यह एक साधना है, इस साधना से नई कृतियों का जन्म होता है, जिसमें सृजनकर्ता की वर्षों की मेहनत लगी रहती है।

जब उचित समय आता है तभी वह संसार के सामने आती हैं। आज एक ऐसी जुनूनी महिला सृजनकर्ता श्रीमति अल्पना देशपांडे जी से आपका परिचय कराते हैं, अल्पना जी जो हैंडमेड (हस्त निर्मि्त) ग्रीटिंग कार्ड के संग्रहण एवं निर्माण का दीवानगी की हद तक शौक है।

इनके संग्रह में अभी तक 12,345 के लगभग हस्त निर्मित ग्रीटिंग कार्ड हैं, जिसमें कुछ हजार इनके द्वारा निर्मित हैं, बाकी मित्रों द्वारा निर्मित हैं।

अल्पना जी के ग्रीटिंग कार्डस में इतनी विभिन्नताएं हैं कि अगर हम उन्हे निर्माण सामग्री एवं उनकी विशेषताओं के आधार पर विभाजित करें तो कई हजार विभाग बन जाते हैं।

कल 27/03/2010 शनिवार को छत्तीसगढ शासन के संस्कृति विभाग के तत्वाधान मे गुरु घासीदास संग्रहालय की आर्ट गैलरी में इनकी प्रदर्शनी प्रांरभ हुई, जिसका शुभारभ प्रख्यात रंग कर्मी राजीव रंजन पाण्डेय जी ने किया,
इस अवसर काफ़ी संख्या में दर्शक, प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के लोग उपस्थित थे।
इनके हस्त निर्मित बधाई संदेशों की प्रदर्शनी 31 मार्च रात प्रतिदिन सांय 5 बजे से 9 रात्रि बजे तक चलेगी,

रायपुर के आस-पास के मित्रों से नि्वेदन हैं कि आप प्रदर्शनी में अवश्य ही आएं, तथा कला के प्रति समर्पित सुश्री अल्पना देशपांडे जी का उत्साह वर्धन करें।


अल्पना जी अपने शौक के प्रति पुर्णत: समर्पित हैं, मै जब से इन्हे जानता हुँ तब से इनमें मैने एक जीवटता देखी है, घर-परिवार, बच्चों, एवं अपने असिस्टेंट प्रोफ़ेसर(आप कालेज में गृह विज्ञान की व्याख्याता हैं) के पेशे के साथ, अपने शौक को भी जीवित रखना एक बहुत ही बड़ी बात हैं। हम इनके जज्बे को सलाम करते हैं तथा उज्ज्वल भविष्य की कामना करतें।

एक निवेदन और है मेरी तरफ़ से, अगर आप अल्पना जी के बधाई संदेश संग्रहण मे अपना योगदान देना चाह्ते हैं तो अपने हाथों से बनाकर कम से कम 5-5 ग्रीटिंग कार्ड अवश्य भेजे,

जिससे आपका भी योगदान स्थाई रुप से इनके संग्रहण के लिए हो सके। जो भाई बहन विदेशों में रहते हैं उनसे भी मेरा आग्रह है कि वे भी अपना बहुमुल्य समय निकाल कर योगदान दें।

पता हैं-- अल्पना देशपाण्डे C/o ललित शर्मा, अभनपुर जिला रायपुर छ ग- पिन 493 661

20 टिप्‍पणियां:

  1. बधाई अल्पना जी को

    कोशिश करते हैं प्रदर्शनी देखने की

    उत्तर देंहटाएं
  2. alpana ji ko badaiiiiiiiiiiiiiiiii. lalit ji aap yah bahut accha kam kar rahe hai .creative logo kki pratibha ko samne lane ka...................

    उत्तर देंहटाएं
  3. आदरणीय शर्मा जी ,
    बहुत बहुत आभार आपका अल्पना जी जैसी शख्सियत से मुलाकात करने का ..कहते हैं कि मानव जीवन सिर्फ़ एक बार मिलता है और बहुत ही विरले होते हैं वे जो इसे सार्थक कर लेते हैं । जब भी अल्पना जी जैसी महिलाओं के बारे में पढता देखता हूं तो सोचता हूं कि सरकार समाज और सभी को महिलाओं के लिए जाने कैसे कैसे वादे आरक्षण के सपने दिखाने से अच्छा है कि ..अल्पना जी जैसी शख्सियतों को आदर्श के रूप में प्रस्तुत करें ताकि उनका अनुकरण करके ..महिलाएं खुद अपना स्थान हासिल करें । अल्पना जी की मौलिक सोच और उनके ज़ज़्बे को सलाम

    अजय कुमार झा

    उत्तर देंहटाएं
  4. kya baat hei...greeting cards ki itni badi collection....alpana ji ka prayas aur mehnat vakai kabil-e-tarif hei.....unko dher shari shubkamnaye

    उत्तर देंहटाएं
  5. अच्छा लगा। एक पत्रकार रूप। ललित जी के साथ छोटे नवाब कौन हैं?

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत अच्छी रिपोर्टिंग की.. थोड़े दिनों बाद ब्लागर्स कहा करेंगे कि मूंछें हों तो शर्मा जी जैसी.. आपकी मूंछें बहुत शानदार लगती हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  7. ...प्रभावशाली प्रस्तुति, आपके द्वारा बनाई गई "मार्डन आर्ट" भी प्रसंशनीय है,बधाई!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर जी, ओर अल्पना जी को बधाई, कभी हम भेजे गे यहां से सुंदर सुंदर कार्ड

    उत्तर देंहटाएं
  9. @ कुलवंत हैप्पी

    छोटे नवाब अल्पना जी के चिरंजीव अमितेष हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  10. ललित जी! आपके सौजन्य से हमारा परिचय भी अल्पना जी से हो गया। उन्हें बहुत बहुत बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  11. @ राज भाटिया जी,

    धन्यवाद राज जी,
    आपने सुनी हमारी बात,
    आपके सहयोग से इस तरह
    उनके संग्रहण में वृद्धि होगी,
    हम आपके आभारी हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  12. कल रायपुर गया था तो गुरु घासीदास संग्रहालय में मित्रों और पुरातत्‍वीय आकृतियों से भेंट मुलाकात हेतु चला आया था वहां अल्‍पना जी के इस प्रदर्शनी का बडा बोर्ड लगा देखा.


    अल्‍पना जी के जजबे को नमन और इस प्रदर्शनी के लिए बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  13. त्वरित रपट लगाने के लिए शुक्रिया!
    अल्पना देशपांडे जी को बधाई♥3

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत बढ़िया शौक है अल्पना जी का ।
    इस शानदार प्रस्तुति के लिए आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  15. अल्पना जी बधाई की पात्र। अच्छी पोस्ट।

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत सुंदर ...अल्पना जी को बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  17. आपने बहुत ही अच्‍छी रिपोर्टिग की है .. कलाप्रेमी अल्पना जी का शौक कमाल का है .. सचमुच घर-परिवार, बच्चों, एवं अपने असिस्टेंट प्रोफ़ेसर के पेशे के साथ, अपने शौक को भी जीवित रखना एक बहुत ही बड़ी बात हैं .. आपके साथ मैं भी इनके जज्बे को सलाम करती हूं .. इनके उज्‍जवल भविष्‍य के लिए बहुत शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  18. That is nice collection 12,345 how did u do this i m very happy to see such a big collection ill also to help u if im in any way
    BEST OF LUCK

    उत्तर देंहटाएं